Jharkhand Polytechnic (JCECE ) Optical Instrument

Jharkhand Polytechnic (JCECE ) Optical Instrument (प्रकाशिक यंत्र) Objective Question Answer 2023

Uncategorized

Jharkhand Polytechnic (JCECE ) Optical Instrument (प्रकाशिक यंत्र) Objective Question Answer 2023: Optical Instrument, Optical Instrument Objective, optical instruments questions and answers pdf, Optics MCQ with Answers, Jharkhand Polytechnic optical instruments questions and answers pdf, Jharkhand polytechnic question bank pdf, Jharkhand polytechnic optical instruments questions answers, Jharkhand polytechnic optical instruments Important question, Jharkhand polytechnic sample paper, Jharkhand polytechnic question bank pdf,

Telegram join


1. मनुष्य की आँख वस्तु का प्रतिबिम्ब आँख के किस भाग पर बनाती है?

(a) आइरिस
(b) पुतली
(c) रेटिना
(d) कोर्निया

Answer ⇒ (C)

2. विभिन्न दूरी पर स्थित वस्तुओं के प्रतिबिम्ब को फोकस करने के लिए आँख के लेन्स की फोकस दूरी परिवर्तित होती है।

(a) पुतली द्वारा
(b) सिलियरी पेशियों द्वारा
(c) दृष्टिपटल द्वारा
(d) अन्ध बिन्दु द्वारा

Answer ⇒ (B)

3. जब हम अनन्त पर रखी किसी वस्तु को देखते हैं तो लेन्स और रेटिना के बीच की दूरी होती है लेन्स की फोकस दूरी से

(a) आधी
(b) दोगुनी
(c) बराबर
(d) अधिक

Answer ⇒ (C)

4. आवर्धक लेन्स को कहते हैं

(a) सरल सूक्ष्मदर्शी
(b) सरल दूरदर्शी
(c) संयुक्त सूक्ष्मदर्शी
(d) इनमें से कोई नहीं

Answer ⇒ (A)

5. एक उत्तल लेन्स सरल सूक्ष्मदर्शी की तरह प्रयुक्त किया गया है जिसकी आवर्धन क्षमता 5 है। लेन्स की फोकस दूरी होगी

(a) 6.25 सेमी
(b) 5 सेमी
(c)–625 सेमी
(d)-5 सेमी

Answer ⇒ (A)

6. निकट दृष्टि दोष वाले व्यक्ति के लिए प्रतिबिम्ब बनता है ।

(a) रेटिना पर
(b) रेटिना से पहले
(c) रेटिना से पीछे
(d) प्रतिबिम्ब बनता ही नहीं

Answer ⇒ (B)

7. निकट दृष्टि दोष को दूर करने के लिए प्रयोग करते हैं

(a) उत्तल लेन्स
(b) अवतल लेन्स
(c) अवतल दर्पण
(d) कोई भी लेन्स

Answer ⇒ (B)

8. एक खगोलीय दूरदर्शी की आवर्धन क्षमता सामान्य दृष्टि के लिए 16 है। यदि सामान्य दृष्टि के लिए व्यवस्थित करने पर अभिदृश्यक लेन्स तथा नेत्रिका के बीच की दूरी 34 सेमी हो तो अभिदृश्यक लेन्स तथा नेत्रिका की फोकस दूरियाँ होंगी

(a) 4 सेमी, 30 सेमी
(b) 2 सेमी, 32 सेमी
(c) 30 सेमी, 4 सेमी
(d) 32 सेमी, 2 सेमी

Answer ⇒ (B)

9. सामान्य नेत्र वाले एक व्यक्ति के पास 40 D क्षमता का लेन्स है। आँख को श्रान्त अवस्था में रखते हुए लेन्स द्वारा देखने पर वस्तु दिखाई देगी

(a) 2.5 गुनी
(b) 5 गुनी
(c) 10 गुनी
(d) 11 गुनी

Answer ⇒ (C)

10. उत्तल लेन्स द्वारा उपचार होता है …

(a) निकट दृष्टि दोष का
(b) दूर दृष्टि दोष का
(c) वर्णान्धता का
(d) निकट और दूर दृष्टि दोनों का

Answer ⇒ (B)

11. एक दूर दृष्टि वाला व्यक्ति चश्मा खो जाने पर कागज के बने छोटे से छेद में को पढ़ लेता है। इसका कारण है।

(a) छिद्रयुक्त कागज से वस्तु का प्रतिबिम्ब कम दूरी पर बन जाता है
(b) छेद वस्तु की दूरी को कम कर देता है ।
(c) छेद वस्तु की दूरी को बढ़ा देता है
(d) ऐसा करने से लेन्स की फोकस दूरी बढ़ जाती है ।

Answer ⇒ (A)

12. चश्मा प्रयुक्त करने वाले व्यक्ति को माइक्रोस्कोप का उपयोग करने के लिए

(a) चश्मा उतार लेना चाहिए
(b) वह माइक्रोस्कोप का उपयोग कर ही नहीं सकता
(c) वह चश्मा पहने ही माइक्रोस्कोप का उपयोग कर सकता है
(d) चश्मा लगाए रखने या उतार लेने, दोनों स्थितियों में कोई अन्तर नहीं

Answer ⇒ (A)

13. माइक्रोस्कोप के अभिदृश्यक की फोकस दूरी होती है

(a) नेत्रिका की फोकस दूरी के बराबर
(b) नेत्रिका की फोकस दूरी से कम
(c) नेत्रिका की फोकस दूरी से अधिक
(d) अनन्त

Answer ⇒ (B)

14. टेलिस्कोप के अभिदृश्यक की फोकस दूरी 120 सेमी तथा व्यास 6 सेमी तथा नेत्रिका की फोकस दूरी 2 सेमी है। टेलिस्कोप की आवर्धन क्षमता है

(a) 12
(b) 24.
(c) 60
(d) 300

Answer ⇒ (C)

15. एक दूरदर्शी के अभिदृश्यक की फोकस दूरी f. सेमी है। 10 गुना आवर्धन प्राप्त करने के लिए नेत्रिका की फोकस दूरी होगी ।

(a) 2f0
(b) 3f0
(c) f0/3
(d) f0/2

Answer ⇒ (D)

16.निकट दृष्टि दोष से पीड़ित मनुष्य की आँख के लिए निकट बिन्दु होता है

(a) 25 सेमी से कम दूरी पर
(b) 25 सेमी से अधिक दूरी पर
(c) 25 सेमी दूरी पर
(d) उपरोक्त में से कोई नहीं

Answer ⇒ (A)

17. कोई मनुष्य 6 मी की दूरी तक स्पष्ट देख सकता है। 10 मी स्पष्ट देखने के लिए आवश्यक लेन्स की फोकस दूरी होगी।

(a) 10 मी
(b)-10 मी
(c) 20 मी
(d) 5 मी

Answer ⇒ (B)

18. एक खगोलीय दूरदर्शी के अभिदृश्यक की फोकस दूरी 200 सेमी और नेत्रिका की फोकस दूरी 4 सेमी है। यदि प्रतिबिम्ब आँख से 25 सेमी की दूरी पर बनता है तो दूरदर्शी की आवर्धन क्षमता होगी।

(a) 50
(b) 29
(c) 58
(d) 196

Answer ⇒ (C)

Telegram join


19. संयुक्त सूक्ष्मदर्शी में आवर्धन क्षमता अधिक होती है जबकि नेत्रिका की फोकस दूरी होती है

(a) कम
(b) अधिक
(c) अभिदृश्यक की फोकस दूरी के बराबर
(d) शून्य

Answer ⇒ (A)

20. मानव नेत्र के रेटिना पर बना वस्तु का प्रतिबिम्ब होता है

(a) वास्तविक व सीधा
(b) वास्तविक व उल्टा
(c) आभासी व सीधा
(d) आभासी व उल्टा

Answer ⇒ (B)

21. एक सूक्ष्मदर्शी की नलिका की लम्बाई 15 सेमी है तथा अभिदृश्यक लेन्स की फोकस दूरी 5 सेमी है। यदि आवर्धन क्षमता 375 है तो नेत्रिका लेन्स की फोकस दूरी है

(a) 5 सेमी
(b) 1.0 सेमी
(c) 2 सेमी
(d) 15 सेमी

Answer ⇒ (C)

22. एक मनुष्य की स्पष्ट दृष्टि न्यूनतम दूरी 25 सेमी है। 10 सेमी की फोकस दूरी वाले उत्तल लेन्स का उपयोग सरल सूक्ष्मदर्शी की भाँति करने पर उस मनुष्य की अधिक-से-अधिक आवर्धन क्षमता होगी

(a) 1.5
(b) 2.5
(c) 3.5
(d) 4.5

Answer ⇒ (B)

23. सामान्य नेत्र वाले एक व्यक्ति के पास 20 डायोप्टर की क्षमता वाला आवर्धन लेन्स है। आँख को श्रान्त अवस्था में रखते हुए लेन्स की आवर्धन क्षमता होगी

(a) 10
(b) 5
(c) 15
(d) 6

Answer ⇒ (B)

24. एक खगोलीय दूरदर्शी के अभिदृश्यक तथा अभिनेत्र लेन्सों की फोकस दूरियाँ क्रमश: 100 सेमी तथा 5 सेमी हैं। सामान्य संयोजन में उसकी आवर्धन क्षमता होगी

(a) 25
(b) 20
(c) 3
(d) 40

Answer ⇒ (B)

25.एक व्यक्ति 2 मी तक की दूरी स्पष्ट देख सकता है। यदि उसे 6 मी तक की दूरी स्पष्ट देखनी हो तो जो लेन्स प्रयोग करना चाहिए वह है

(a) 0.66 D, अवतल
(b) 0.66 D, उत्तल
(c) 0.33 D. उत्तल
(d) 0.33 D, अवतल ,

Answer ⇒ (D)

26.एक लेन्स की फोकस दूरी 3 सेमी है। यदि अन्तिम प्रतिबिम्ब स्पष्ट दृष्टि की न्यूनतम दूरी 30 सेमी पर बन रहा हो तो लेन्स की आवर्धन क्षमता है

(a)9
(b) 11
(c) 10
(a) 10
(d) 8

Answer ⇒ (B)

27. एक उत्तल लेन्स, जिसकी फोकस दूरी 6 सेमी है, से अन्तिम प्रतिबिम्ब 25 सेमी की दूरी पर बनता है। यदि इसे संयुक्त माइक्रोस्कोप में अभिनेत्र लेन्स के रूप में 30 आवर्धन क्षमता वाले अभिदृश्यक लेन्स के साथ प्रयोग किया जाए तो संयुक्त माइक्रोस्कोप की आवर्धन क्षमता होगी

(a) 15
(b) 30
(c) 150
(d) 180

Answer ⇒ (D)

28. एक खगोलीय दूरदर्शी के अभिनेत्र लेन्स की फोकस दूरी 6 सेमी है। यदि सामान्य समायोजन में कोणीय आवर्धन 16 हो तो अभिदृश्यक एवं अभिनेत्र लेन्स के बीच की दूरी (सेमी में) है ।

(a) 2.5
(b) 192
(c) 96
(d) 90

Answer ⇒ (D)

29. एक दूर दृष्टि दोष वाला व्यक्ति अपनी आँख से 60 सेमी से कम की दरी की वस्तु स्पष्टतयाः नहीं देख पाता। यदि वह एक पुस्तक को आँख से 30 सेमी की दूरी पर पढ़ना चाहे, तो लेन्स का प्रकार एवं फोकस दूरी होगी

(a) 20 सेमी फोकस दूरी का अवतल लेन्स
(b) 60 सेमी फोकस दरी का अवतल लेन्स
(c) 20 सेमी फोकस दूरी का उत्तल लेन्स
(d) 60 सेमी फोकस दूरी पर उत्तल लेन्स

Answer ⇒ (D)

30. निकट दृष्टि दोष से पीड़ित एक व्यक्ति दूर की वस्तुओं को देखने के लिए अवतल लेन्सों वाले चश्मे का प्रयोग करता है। जब वह इसी चश्में को पहन कर सीढ़ियाँ चढ़ता है तो उसे सीढ़ियाँ दिखती हैं।

(a) नजदीक लेकिन कम दृष्टि
(b) नजदीक तथा ज्यादा दृष्टि
(c) दूर लेकिन अधिक स्पष्ट पा
(d) दूर किन्तु कम स्पष्ट

Answer ⇒ (B)

31. एक व्यक्ति अपनी आँख से 60 सेमी से कम दूरी पर रखी वस्तु को स्पष्ट नहीं देख पाता। इस दोष के निवारण के लिए उसे कितनी क्षमता का लेन्स प्रयोग करना होगा?

(a) 3/2 D
(b) 5/2 D
(c) 7/3 D
(d) इनमें से कोई नहीं

Answer ⇒ (C)

32. एक संयुक्त सूक्ष्मदर्शी में अभिदृश्यक एवं नेत्रिका की आवर्धन क्षमता क्रमशः mg एवं ma हैं। सूक्ष्मदर्शी की आवर्धन क्षमता होगी।

(a) M1 X M2
(b) M1 + M2
(c) M1 / M2
(D) M2 / M1

Answer ⇒ (A)

33. 4 सेमी फोकस दूरी का एक उत्तल लेन्स एक साधारण सूक्ष्मदर्शी के रूप में प्रयोग किया गया है। यदि इसे संयुक्त सूक्ष्मदर्शी के अभिनेत्र लेन्स के रूप में, अभिदृश्यक लेन्स के साथ जिसकी आवर्धन क्षमता 40 है, प्रयोग किया जाये, तो सूक्ष्मदर्शी की आवर्धन क्षमता हो जायेगी (माना कि स्पष्ट दृष्टि की न्यूनतम दूरी 25 सेमी है)

(a) 290
(b) 230
(c) 110.:
(d) इनमें से कोई नहीं

Answer ⇒ (A)

34. एक संयुक्त सूक्ष्मदर्शी के अभिदृश्यक के द्वारा I, प्रतिबिम्ब बनता है तथा नेत्रिका द्वारा I, प्रतिबिम्ब बनता है। तो

(a) 1. काल्पनिक है, तथा । वास्तविक
(b) वास्तविक है, तथा । काल्पनिक मा
(c) तथा ।। दोनों वास्तविक हैं।
(d) तथा । काल्पनिक हैं

Answer ⇒ (B)

35. मानव नेत्र में रेटिना पर बनने वाला प्रतिबिम्ब

(a) सीधा होता है, परन्तु उल्टा दिखाई देता है
(b) उल्टा होता है, परन्तु सीधा दिखाई देता है
(c) सीधा होता है, सीधा दिखाई देता है।
(d) उल्टा होता है, उल्टा दिखाई देता है।

Answer ⇒ (B)

36. दूर दृष्टि दोष से पीड़ित एक मनुष्य के निकट बिन्दु की दूरी 0.40 मीटर है। इस दोष के निवारण हेतु उपयोग में लाए गए लेन्स की प्रकृति तथा फोकस की दूरी होगी

(a) अवतल तथा 6.67 सेमी
(b) उत्तल तथा 6.67 सेमी
(c) उत्तल तथा 66.7 सेमी
(d) अवतल तथा 66.7 सेमी

Answer ⇒ (C)

37. निकट-दृष्टि के निवारण के लिए प्रयोग किये जाते हैं

(a) अवतल लेंस
(b) उत्तल लेंस
(c) अवतल तथा उत्तल दोनों
(d) इनमें से कोई नहीं

Answer ⇒ (A)

38. मानव नेत्र में रेटिना पर बनने वाला प्रतिबिम्ब

(a) सीधा होता हैं, परन्तु उल्टा दिखाई देता है
(b) उल्टा होता है, परन्तु सीधा दिखाई देता है
(c) सीधा होता हैं, सीधा दिखाई देता है
(d) उल्टा होता है, उल्टा दिखाई देता है

Answer ⇒ (B)

39. एक व्यक्ति 90 सेमी से कम दूरी की वस्तुओं को देख नहीं पाता। वस्तुओं को 30 सेमी की दूरी पर रखने के लिए उसे जिस शक्ति एवं प्रकृति का लेन्स प्रयोग करना चाहिए, है

(a) 2.22 D उत्तल
(b) 4.45D उत्तल
(c) 2.22 D अवतल
(d) 4.45 D अवतल

Answer ⇒ (A)

READ MORE

Leave a Reply

Your email address will not be published.