Jharkhand polytechnic electromagnetic induction question answer

Jharkhand Polytechnic Electromagnetic Induction ( विधुत चुंबकीय प्रेरण) Objective Question Answer 2023

Jharkhand Polytechnic Physics Question

Jharkhand Polytechnic Electromagnetic Induction ( विधुत चुंबकीय प्रेरण) Objective Question Answer 2023: Jharkhand Polytechnic Electromagnetic Induction Objective Question Answer, Jharkhand Polytechnic Electromagnetic Induction Objective, electromagnetic induction principle objective questions, magnetic flux MCQ questions, electromagnetic induction principle objective questions pdf, Electromagnetic induction Questions and Answers PDF, Jharkhand Polytechnic Electromagnetic Induction, electromagnetic induction answer key, Jharkhand polytechnic electromagnetic induction question answer, Jharkhand polytechnic electromagnetic induction question answer

Telegram join

1. चुम्बकीय क्षेत्र में स्थित किसी सतह पर खींचा गया अभिलम्ब क्षेत्र की दिशा से कोण बनाता है। सतह के A क्षेत्रफल से गुजरने वाला फ्लक्स होगा

【A】 B/A
【B】 BxA
【C】 B.A
【D】 BA

Answer ⇒ 【C】

2. विद्युत चुम्बकीय प्रेरण में उत्पन्न प्रेरित विद्युत वाहक बल की दिशा किस नियम से ज्ञात की जाती है?

【A】 ऐम्पियर के नियम से
【B】 लेन्ज के नियम से
【C】 फैराडे के नियम से
【D】 मैक्सवेल के नियम से

Answer ⇒ 【B】

3. 0.4 मी लम्बाई का एक सीधा चालक, 7 मी/से के वेग से 0.9 वेबर/मी2 तीव्रता के चुम्बकीय क्षेत्र में गतिमान है। चालक के सिरों पर उत्पन्न प्रेरित विद्युत वाहक बल होगा

【A】 1.25 वोल्ट
【B】 250 वोल्ट
【C】 2.52 वोल्ट
【D】 5 वोल्ट

Answer ⇒ 【C】

4. चुम्बकीय प्रेरण की खोज किसने की थी?

【A】 फ्लेमिंग
【B】 लेन्ज
【C】 फैराडे
【D】 ओर्टेड

Answer ⇒ 【A】

5. यान्त्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में बदलने वाली मशीन का नाम है

【A】 डायनेमो
【B】 प्रेरण कुण्डली
【C】 विद्युत मोटर
【D】 ट्रांसफॉर्मर

Answer ⇒ 【A】

6. किसी परिनालिका के अन्दर चुम्बकीय प्रेरण का मान

【A】 शून्य होता है
【B】 अक्ष से दूरी के साथ घटता है
【C】 समरूप होता है
【D】 अक्ष से दूरी के साथ बढ़ता है

Answer ⇒ 【D】

7. यदि 10 फेरों वाली एक तार की कुण्डली से गुजरने वाले चुम्बकीय फ्लक्स में 2 सेकण्ड में 15 वेबर की वृद्धि होती है, तो कुण्डली में उत्पन्न विद्युत वाहक बल होगा

【A】 60 वोल्ट
【B】 75 वोल्ट
【C】 45 वोल्ट
【D】 150 वोल्ट

Answer ⇒ 【B】

8. निम्न में से न्यूनतम प्रतिरोध किसका है?

【A】 धारामापी
【B】 अमीटर
【C】 वोल्टमीटर
【D】 2 मी लम्बा तार

Answer ⇒ 【B】

9. दिष्ट धारा के आमेचर का प्रतिरोध 20Ω है। जब इसे 220 वोल्ट की दिष्ट सप्लाई से जोड़ा जाता है, तब इसमें 1.5 ऐम्पियर धारा प्रवाहित होती है। पश्च विद्युत वाहक बल का मान होगा

【A】 360 वोल्ट
【B】 90 वोल्ट
【C】 280 वोल्ट
【D】 190 वोल्ट का

Answer ⇒ 【D】

10. एक चोक कुण्डली

【A】 दिष्ट धारा का मान घटाती है
【B】 दिष्ट धारा का मान बढ़ाती है ।
【C】 प्रत्यावर्ती धारा का मान घटाती है
【D】 प्रत्यावर्ती धारा का मान बढ़ाती है

Answer ⇒ 【C】

11. एक जेट वायुयान जिसके पंखे (Wings) के सिरों के बीच की दूरी 60 मी है, 400 मी/से के वेग से गतिमान है। यदि पृथ्वी के चुम्बकीय क्षेत्र का मान 0.3 गौस है, तो वायुयान के पंखों के सिरों के बीच कितना विभवान्तर उत्पन्न होगा?

【A】 0.4 वोल्ट
【B】 0.5 वोल्ट
【C】 0.6 वोल्ट
【D】 0.72 वोल्ट

Answer ⇒ 【D】

12. ट्रांसफॉर्मर की क्रोड बनी होती है

【A】 नर्म लोहे की
【B】 कड़े लोहे की
【C】 स्टील की
【D】 ताँबे की

Answer ⇒ 【A】

13. एक अपचायी ट्रांसफॉर्मर में निवेशी विभव 200 वोल्ट है व निर्गत विभव 5 वोल्ट है तो ट्रांसफॉर्मर की कुण्डलियों में फेरों की संख्या का अनुपात होगा 1

【A】 40: 1
【B】 30: 1
【C】 20:
【D】 1:30

Answer ⇒ 【A】

14. एक ट्रांसफॉर्मर की दक्षता 80% है। यह 4 किलोवाट व 100 वोल्ट पर कार्य करता है। यदि द्वितीयक विभव 240 वोल्ट है, तो प्राथमिक कुण्डली में धारा का मान होगा

【A】 5 ऐम्पियर
【B】 7 ऐम्पियर
【C】 15 ऐम्पियर
【D】 40 ऐम्पियर

Answer ⇒ 【D】

15. अमीटर को समान्तर क्रम में जोड़ने पर धारा प्रवाहित होगी

【A】 कम
【B】 अधिक
【C】 उतनी ही
【D】 शून्य

Answer ⇒ 【B】

16. एक उच्चायी ट्रांसफॉर्मर, 120 वोल्ट की लाइन पर 2400 वोल्ट पर 2 ऐम्पियर धारा प्राप्त करने में प्रयुक्त होता है। यदि प्राथमिक कुण्डली में 100 फेरे हैं, तो द्वितीयक कुण्डली में फेरों की संख्या है

【A】 1000
【B】 150
【C】 600
【D】 2000

Answer ⇒ 【D】

17. किसी कुण्डली में 20 सेकण्ड में 400 वेबर चुम्बकीय फ्लक्स गुजरता है। कुण्डली में प्रेरित विद्युत वाहक बल का मान (वोल्ट में) होगा

【A】 1/20
【B】 20
【C】 400
【D】 800

Answer ⇒ 【B】

18. अपचायी ट्रांसफॉर्मर में मान बढ़ता है

【A】 धारा का
【B】 वोल्टता का
【C】 शक्ति का
【D】 प्रतिरोध का

Answer ⇒ 【A】

19. किसी ट्रांसफॉर्मर की द्वितीयक एवं प्राथमिक कुण्डलियों में फेरों का अनुपात 2 : 1 है। वह बदलेगा

【A】 अल्प वोल्टता की उच्च धारा को उच्च वोल्टता की अल्प धारा में
【B】 उच्च वोल्टता की अल्प धारा को अल्प वोल्टता की उच्च धारा में
【C】 अल्प धारा को उच्च धारा में उसी वोल्टता पर
【D】 उच्च धारा को अल्प धारा में उसी वोल्टता पर

Answer ⇒ 【A】

20. तार का छोटा टुकड़ा अश्वनाल चुम्बक के ध्रुव खण्डों के मध्य से 0.1 सेकण्ड में गुजर जाता है जिससे तार के टुकड़े में 4 x 10-8 वोल्ट का विद्युत वाहक बल प्रेरित हो जाता है। ध्रुवों के मध्य चुम्बकीय फ्लक्स होगा

【A】 10 वेबर
【B】 4 x 10-4 वेबर
【C】 4×102 वेबर
【D】 0.1 वेबर

Answer ⇒ 【B】
Telegram join

21. एक उच्चायी ट्रांसफॉर्मर में फेरों का अनुपात 1: 2 है। एक लेक्लांशी सेल (विद्युत वाहक बल = 1.5 वोल्ट) प्राथमिक से जोड़ा हुआ है। द्वितीयक में उत्पन्न वोल्टता होगी

【A】 3.0 वोल्ट
【B】 0.75 वोल्ट
【C】 1.5 वोल्ट
【D】 शून्य

Answer ⇒ 【D】

22. 100 फेरों वाली कुण्डली में से गुजरने वाला फ्लक्स 0.1 सेकण्ड में 0.1 वेबर हो जाता है। प्रेरित विद्युत वाहक बल का मान है

【A】 200 वोल्ट
【B】 100 वोल्ट
【C】 150 वोल्ट
【D】 300 वोल्ट

Answer ⇒ 【B】

23. वोल्टमीटर को श्रेणी क्रम में जोड़ने पर धारा का मान हो जाएगा

【A】 अधिक
【B】 कम
【C】 शून्य
【D】 उतना ही रहेगा

Answer ⇒ 【C】

24. अमीटर का प्रतिरोध शंट के प्रतिरोध की अपेक्षा होता है

【A】 अधिक
【B】 बराबर
【C】 कम
【D】 इनमें से कोई नहीं

Answer ⇒ 【C】

25. 100μA पूर्ण मापनी विस्थापन तथा 1000 ओम के माइक्रो अमीटर को अh 1 वोल्ट पूर्ण मापनी विस्थापन में परिवर्तित किया जाता है। एक ऐसा प्रतिरोध माइक्रोमीटर में जोड़कर किया जा सकता है जिसका मान है

【A】 9000Ω श्रेणी क्रम में
【B】 9000Ω समान्तर क्रम में
【C】 10Ω श्रेणी क्रम में
【D】 इनमें से कोई नहीं

Answer ⇒ 【A】

26. 1Ω आन्तरिक प्रतिरोध का एक गैल्वेनोमीटर 50 मिली ऐम्पियर विद्युत की धारा पर अधिकतम विचलन प्रदर्शित करता है। उपकरण को 2 ऐम्पियर की अधिकतम रीडिंग वाले अमीटर में बदला जा सकता है

【A】 39Ω का तार श्रेणी क्रम में लगाकर
【B】 1/390 Ω प्रतिरोध का तार श्रेणी क्रम में लगाकर
【C】 39Ω  प्रतिरोध का तार समान्तर क्रम में लगाकर
【D】 1/39Ω प्रतिरोध का तार समान्तर क्रम में लगाकर

Answer ⇒ 【D】

27. ट्रांसफॉर्मर को DC में प्रयोग करने के लिए

【A】 इसकी क्रोड बदलनी पड़ेगी ।
【B】 इसकी कण्डली बदलनी पडेगी
【C】 इसमें धारा नियन्त्रक लगाना पड़ेगा
【D】 इसे केवल AC धारा में ही प्रयोग कर सकते हैं

Answer ⇒ 【D】

28. चल कुण्डली माइक्रोफोन बदलता है कार की

【A】 ध्वनि को विद्युत ऊर्जा में
【B】 यान्त्रिक ऊर्जा को प्रकाश में
【C】 विद्युत ऊर्जा को ध्वनि में
【D】 ध्वनि को चुम्बकीय ऊर्जा में

Answer ⇒ 【A】

29. एक दिष्ट धारा जनित्र के आर्मेचर में प्रेरित विद्युत वाहक बल होगा

【A】 DC
【B】 AC
【C】 उच्चावचन DC
【D】 AC,DC

Answer ⇒ 【B】

30. लेन्ज का नियम किसके संरक्षण से सम्बन्धित है?

【A】 आवेश
【C】 द्रव्यमान
【B】 ऊर्जा
【D】 संवेग

Answer ⇒ 【B】

31. किसी प्रत्यावर्ती धारा के लिए एक मात्र सत्य कथन है ।

【A】 केवल धारा की दिशा आवर्त रूप में परिवर्तित होती है
【B】 धारा की दिशा व परिमाण दोनों आवर्त रूप में बदलते हैं
【C】 केवल धारा का मान आवर्त रूप से बदलता है
【D】 धारा की दिशा तो परिवर्तित होती है परन्तु मान नियत रहता है

Answer ⇒ 【B】

32. यदि चुम्बकीय क्षेत्र, जो कि 100 फेरों की कुण्डली के तल से लम्बवत् गुजरता है, में 0.02 सेकण्ड में समान दर पर परिवर्तन 0.25 वेबर/मी2 से 0.65 वेबर/मी2 होता हो, तो 0.08 मी2 अनुप्रस्थ काट वाली कुण्डली में प्रेरित विद्युत वाहक बल का परिमाण वोल्ट में होगा

【A】 160
【B】 320
【C】 80
【D】 इनमें से कोई नहीं

Answer ⇒ 【A】

33. निम्न विभवान्तर की प्रत्यावर्ती धारा को उच्च विभवान्तर की प्रत्यावर्ती धारा में बदलने के लिए प्रयुक्त होता है

【A】 विद्युत मोटर
【B】 अपचायी ट्रांसफॉर्मर
【C】 उच्चायी ट्रांसफॉर्मर
【D】 डायनेमो

Answer ⇒ 【C】

34. किसी क्षण एक कुण्डली के साथ 80 x 10-4 वेबर का चुम्बकीय फ्लक्स सम्बद्ध है। 0.2 सेकण्ड के पश्चात् यह बदलकर 40 x 10-4 वेबर हो जाता है। कुण्डली में कितना विद्युत वाहक बल प्रेरित होगा?

【A】 0.1 मिलीवोल्ट
【B】 0.2 मिलीवोल्ट
【C】 0.3 मिलीवोल्ट
【D】 0.4 मिलीवोल्ट

Answer ⇒ 【B】

35. एक कुण्डली का क्षेत्रफल 0.05 मी2 है तथा उसमें 100 फेरें हैं। कुण्डली के तल के लम्बवत् 0.08 वेबर/मी2 का चुम्बकीय क्षेत्र लगा है। यदि क्षेत्र 0.01 सेकण्ड से घटकर शून्य हो जाए तो कुण्डली में विद्युत वाहक बल होगा

【A】 20 वोल्ट
【B】 40 वोल्ट
【C】 10 वोल्ट
【D】 30 वोल्ट

Answer ⇒ 【B】

36. 500 फेरों वाली कुण्डली से सम्बद्ध चुम्बकीय फ्लक्स 0.1 सेकण्ड में 0.32 वेबर से घटकर शून्य रह जाता है। कुण्डली के सिरों पर उत्पन्न विद्युत वाहक बल होगा।

【A】 10 वोल्ट
【B】 100 वोल्ट
【C】 1000 वोल्ट
【D】 1600 वोल्ट

Answer ⇒ 【D】

37. डायनेमो उत्पन्न करता है ।

【A】 आवेश
【B】 विद्युत वाहक बल
【C】 इलेक्ट्रॉन
【D】 चुम्बकीय क्षेत्र

Answer ⇒ 【B】

38. किसी बन्द कुण्डली (परिपथ) से सम्बद्ध चुम्बकीय फ्लक्स में परिवर्तन होता है, तो कुण्डली में प्रेरित विद्युत वाहक बल उत्पन्न हो जाता है। यह नियम है

【A】 फैराडे का
【B】 फ्लेमिंग का
【C】 लेन्ज का
【D】 ओर्टेड का

Answer ⇒ 【A】

39. किस यन्त्र का उपयोग बैटरियों को आवेशित करने, मोटर की बत्ती जलाने, सर्चलाइट आदि में किया जाता है?

【A】 विद्युत मोटर का
【B】 धारामापी का
【C】 ट्रांसफॉर्मर का
【D】 डायनेमो का

Answer ⇒ 【D】

40. ताँबे के एक छल्ले को एक दण्ड चुम्बक के उत्तरी ध्रुव की ओर गतिमान किया जाता है। तब यह निश्चित है कि

【A】 यह छल्ला टूट जाएगा
【B】 छल्ला गर्म होने लगेगा
【C】 छल्ले में प्रत्यावर्ती धारा (AC) प्रवाहित होगा धन
【D】 छल्ला अप्रभावित रहेगा

Answer ⇒ 【B】

41. DC विद्युत मोटर में विरोधी विद्युत वाहक बल उत्पन्न होता है

【A】 मोटर की कुण्डली घूमकर स्थिर हो जाती है
【B】 जब मोटर की कुण्डली घूमना प्रारम्भ करती है
【C】 जब मोटर की कुण्डली स्थिर रहती है ।
【D】 विरोधी विद्युत वाहक बल DC मोटर में उत्पन्न नहीं होता है

Answer ⇒ 【B】

42. यदि = चुम्बकीय फ्लक्स, B = चुम्बकीय क्षेत्र की तीव्रता, A = क्षेत्रफल है, तो इनके बीच सही सम्बन्ध है

【A】 B= Φ/A
【B】 Φ= B/A
【C】 A=B.Φ
【D】B= Φ.A

Answer ⇒ 【A】

43. विद्युत चुम्बकीय प्रेरण में विद्युत वाहक बल समानुपाती होता है

【A】 चुम्बकीय फ्लक्स के
【B】 परिपथ के प्रतिरोध के
【C】 चुम्बकीय फ्लक्स परिवर्तन के
【D】 चुम्बकीय फ्लक्स परिवर्तन की दर के

Answer ⇒ 【D】

Read More

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.