www.soldiergyan.com

Jharkhand Latest Update News : 320 विद्यालयों में वाणिज्य कॉमर्स के छात्र नहीं , 289 शिक्षक किए जाएंगे नियुक्त

JHARKHAND BOARD LATEST NEWS

Jharkhand Latest Update News : 320 विद्यालयों में वाणिज्य कॉमर्स के छात्र नहीं , 289 शिक्षक किए जाएंगे नियुक्त

झारखंड: झारखंड के 320 प्लस टू वाणिज्य (कॉमर्स) के कक्षा में एक भी विद्यार्थी नहीं है, परंतु 289, शिक्षकों की नियुक्ति करने की तैयारी में झारखंड सरकार जुटी हुई है। झारखंड सरकार ने 16 स्कूल में 3120 शिक्षकों की नियुक्ति करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। उनमें से 289 शिक्षक कॉमर्स के हैं। राज्य में कुछ ऐसे भी स्कूल हैं जहां कॉमर्स शिक्षक तो हैं परंतु विद्यार्थी कोई भी संख्या नहीं है परंतु उसमें सभी शिक्षकों का नियुक्ति करने की प्रक्रिया जारी हो चुका है, वहीं स्कूलों में जिस विषय में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं की संख्या 50 हजार से भी अधिक है। जहां पढ़ाने के लिए कोई भी शिक्षक मौजूद नहीं है, झारखंड के साक्षरता विभाग द्वारा बनाई गई रिपोर्ट के माध्यम से राज्य के इंटर स्कूलों में राजनैतिक शास्त्र के विषय में लगभग 36000 एवं सामाजिक शास्त्र विषय में 24000 छात्र एवं छात्राएं शामिल हैं। इन सभी विद्यालयों में बिना शिक्षक के ही सभी शिक्षकों के द्वारा सभी छात्र एवं छात्राएं हो को सूचित किया जा रहा है। Jharkhand Scholarship Online

510 प्लस टू उच्च विद्यालय 

Latest Update News : झारखंड राजमहल 510 इंटरमीडिएट उच्च विद्यालय हैं इंटर स्तर पर तीनों की पढ़ाई होती है सभी स्कूलों एवं कॉलेजों में शिक्षकों के 1111 सुनिश्चित किए गए हैं जिनमें एक कामर्स के शिक्षक का शामिल किया गया है, झारखंड राज्य में इंटरमीडिएट स्कूलों एवं कॉलेजों में तीन बार सभी शिक्षकों का नियुक्ति किया गया है जिनमें से दो बार कॉमर्स के शिक्षकों की नियुक्ति हो चुकी है। राज्य के सभी विद्यालय में वर्तमान में 200 स्कूल में कॉमर्स के शिक्षक है। झारखंड के साक्षरता विभाग ने इंटरमीडिएट विद्यालय में शिक्षकों एवं सभी विद्यार्थियों का स्थिति को लेकर एक सूची तैयार की है। की जिस स्ट्रीम में सभी को की जरूरत है उन्हीं आंखों में शिक्षकों का नियुक्त किया जाना बहुत जरूरी है।

मुख्यमंत्री के समक्ष दिया गया प्रेजेंटेशन

Jharkhand Latest Update News : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने 2020 में विभागीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की थी जिसमें रिपोर्ट के आधार पर विभाग की ओर से बताया गया था कि सभी इंटरमीडिएट स्कूलों में विज्ञान संकाय एवं कला संकाय की पढ़ाई हो परंतु कॉमर्स की पढ़ाई वैसे विद्यालय में ही किया जाए जिसमें सभी विद्यार्थी मौजूद हैं और कहां गया था कि शिक्षकों का पद भी विद्यार्थियों की संख्या के दिशा निर्देश के सहारे सृजित करने के बाद हुई थी। प्लस टू अ स्कूलों में स्कूल विषयों में पद सृजित किए जाने का मामला संज्ञान में है जिन विषयों में विद्यार्थियों का नामांकन हुई है और उसमें शिक्षक का पद नहीं है तो उन सभी पदों में शिक्षक की नियुक्ति किया जाएगा

www.soldiergyan.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.